मंगलवार, 11 नवंबर 2008

हिन्दू उग्रवादी बना तो विश्वयुद्ध तय : निश्चलानन्द

पुरी पीठ के शंकराचार्य स्वामी निश्चलानन्द ने कहा है कि अगर हिन्दू उग्रवादी बन गया तो तीसरा विश्व युद्ध तय समझिए। मै पिछले 17 सालो से यह कहता आ रहा हू कि हिन्दुओ को इतना मजबूर नही करना चाहिए कि एक दिन वे हथियार उठानो को बाध्य हो जाये। आज विदेशी षडयंत्र इस गहराई तक फैल चुका है कि हिन्दुओ के गंगा, रामसेतु और राम मन्दिर जसे मानविन्दुओ को अपमानित करने के लिए इस देश मे हिन्दू ही विदेशी एजेण्ट बन कर सामने खडा हो गया है।

हिन्दू हितो के रक्षा के लिए अपने वेबाक टिप्पणी के लिए लोकप्रिय पीठाधीश्वर ने कहा कि कुछ गठजोड विदेशी ताकतो की साजिश से हिन्दुओ के आस्था केन्द्रो पर लगातार हमलो के माध्यम से यह माहौल बना रहे है कि हिन्दू उग्रवाद का मार्ग अपना ले. शंकराचार्य ने कहा कि ऐसे ही हालात रहे तो संघ विहिप, बजरंग दल हो ना हो एक लाख मे एक हिन्दू तो ऐसा होगा ही जो राष्ट्र और धर्म की रक्षा के लिए हथियार उठा लेगा।

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के माम्ले मे उन्होने कहा कि न तो उनके घर से कोई आपत्तिजनक समान मिला, न जांच मे उनसे कोई जानकारी मिली फिर भी उनको घोर प्रताडना दी जा रही है, जो दुखद है जबकि संसद पर हमला करने वाले जेल्ओ मे सजा काट रहे है। शंकराचार्य ने कहा कि पहले तो उग्रवाद की परिभाषा तय होनी चहिए क्योकि आज इस देश की आजादी के लिए हथियार उठाने वाले हमारे कांतिकारियो को ही उग्रवादी कहा जाने लगा है। हमारे देवी देवता राम, कृष्ण,काली, दुर्गा सबने शस्त्रो से ही दुष्टो का सन्हार किया और उनके हाथो मे हथियार रहते है। अब अगर इनको भी उग्रवादीमाना गया तो फिर मुझे अपने आप को उग्रवादी मानने मे आपत्ति नही होगी।

साभार लोकमंच

0 टिप्पणियाँ:

समर्थक