मंगलवार, 11 नवंबर 2008

दम है तो गिरफ्तार करो :योगी

मालेगांव बम धमाके मे गोरखपुर के एक जंनप्रतिनिधि का नाम आने की चर्चा पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा सांसद आदित्यनाथ ने चुनौती दी कि अगर एटीएस मे दम है तो वह उन्हे गिरफ्तार करके दिखाए। पत्रकारों से बातचीत मे कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को आतंकवादी संगठन घोषित करने तथा मुस्लिम संगठनों को उदार बताने के उद्देश्य से एक खतरनाक षडयंत्र रचा जा रहा है।

36 वर्षीय आदित्यनाथ ने एटीएस को सलाह दी है कि वह दूसरों के इशारों पर कार्रवाई न करे। उन्होंने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के नार्को परीक्षण पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि इसके पहले हुए बम विस्फोटों में गिरफ्तार इस्लामी आतंकवादियों का नार्को परीक्षण क्यों नहीं किया गया।आदित्यनाथ का यह बयान तब आया है, जब एटीएस ने मालेगांव मामले में एक बड़े नेता से पूछताछ तथा इसमें उत्तरप्रदेश सरकार से सहयोग की इजाजत के लिए सोमवार को मुंबई की एक अदालत में आवेदन किया।

हालांकि नेता के नाम की घोषणा किए बगैर ही एटीएस ने फर्रुखाबाद व पूर्वी उत्तरप्रदेश में सीधे तौर पर अभियान चला कर मालेगांव विस्फोट मामले में महत्वपूर्ण सूराग हासिल किए हैं। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक मालेगांव मामले में लेफ्टिनेंट कर्नल पीसी पुरोहित की गिरफ्तारी के बाद से ही लगातार नए-नए सुराग मिल रहे हैं। इनमें से कुछ सुराग योगी आदित्यनाथ की ओर इशारा करते हैं।

अपनी हिंदुत्ववादी राजनीति के लिए विख्यात आदित्यनाथ पूर्वी उत्तरप्रदेश में भाजपा के मजबूत स्तंभ हैं। आदित्यनाथ ने उड़ीसा में विश्व हिंदू परिषद नेता स्वामी लक्ष्मणानंद की हत्या के बाद चर्चो पर किए गए हमलों को भी जायज ठहराया था। इतना ही नहीं आदित्यनाथ ने वर्ष 2005 में उत्तरप्रदेश के एटा जिले में 1,800 ईसाइयों की हिंदू धर्म में वापसी को लेकर महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

साभार लोकमंच

0 टिप्पणियाँ:

समर्थक